नवीनतम

Post Top Ad

मेरा भारत महान" सच्चाई या वेहम ! - Shivangi Tyagi

मेरा भारत महान" सच्चाई या वेहम ! - Shivangi Tyagi


"भारतवर्ष  यानि इंडिया"  हम सभी जब इंडिया की कल्पना करते हैं तो सबसे पहले यहां के कल्चर की एक खूबसूरत सी तस्वीर मन में अपने आप बन जाती है और ये तस्वीर  सिर्फ भारत के लोगों के मन में नही बल्कि दूसरे देशों के लोगों के मन में भी अपनी एक अलग पहचान बना लेती है। हमारे देश में अतिथि को भगवान माना जाता है,  ऐसे ही कुछ परदेशी लोग जब यहां की सभ्यता को अपने दिलों में बसाने आते है तो उनका भी दिल से स्वागत किया जाता है। बहुत से लोग यहां आए और यहां के कल्चर से प्रभावित होकर या तो उन्हें तस्वीरों में कैद कर के ले गए या फिर किताबों के पन्नों पर यहां के कल्चर के बारे में लिखे बिना खुद को रोक नहीं पाए।  यहां हर धर्म ,जाति , रंगो के लोगों को अपनाया गया। सबको बराबर के हक संविधान से मिले। इन सभी चीजो को देखने के बाद हम सब बोले बिना रुक नही पाते के " हमारा भारत महान" ।
  

लेकिन क्या आप उस भारत को महान कहेंगे जहां रेप , मर्डर, किसानों की आत्महत्या  ये सभी एक आम सी बात है। जहां के लोग राजनैतिक मुद्दों पर मुंह भाषा किए बिना नहीं रुकते । फेसबुक , व्हाट्स ऐप   पर औरतों की इज्जत के डंके तो बहुत बजाए जाते हैं लेकिन खुद के घरों में औरत की कोई परवाह नहीं की जाती।

किसी सुपरस्टार के मरने पर शोक जताया जाता है लेकिन एक किसान की आत्महत्या  का मुद्दा बस अखबारों के किसी कोने में छाप दिया जाता है जहां किसी की नजर तक नहीं जाती। 

हाल ही में सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद उठे ड्रग्स के मुद्दे पर बातें तो की जा रही हैं पर क्या हम विश्वास कर सकते है इस भ्रष्टाचारी सिस्टम पर ?  क्या पता उन कुछ चुनिंदा पैसे वालों के नाम तक बाहर ना आए जो हमारे देश को खोखला करते जा रहे है। और ये फाइल भी किसी दफ्तर की अलमारी में धूल में लिपटी हुई नज़र आए ।

मै चाहूंगी के आप सब इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद कांग्रेस और बीजेपी के मुद्दों से बाहर निकल कर कुछ अहम मुद्दों पर नज़र डालें। और सबसे पहले बदलाव खुद से शुरू करें। 

तब हम सर उठा कर बोल पाएंगे - " हमारा भारत महान"
जय हिन्द जय भारत

शिवांगी त्यागी

6 टिप्‍पणियां:

  1. Bhot bhtreen likha hai tumne..
    Tumhari soch me ek sacche bhartiya ki khushboo hai. . Mujhe garv hai or khushi bhi ki hamara desh Bharat ka Bhavishya surakshit haato me hai.. .

    जवाब देंहटाएं
  2. well done.
    corruption chote level pe shuru hota or fir itna bda roop le leta h.khi na khi iske jimmedar hum sab h .pr social media aisa platform h jha sab apni awaz utha skte h.

    जवाब देंहटाएं
  3. well done.
    corruption chote level pe shuru hota or fir itna bda roop le leta h.khi na khi iske jimmedar hum sab h .pr social media aisa platform h jha sab apni awaz utha skte h.

    जवाब देंहटाएं
  4. Well done shivu....corruption ki roots bhot strong jitni khodne ki kosis krenge usme uljhte chale jayenge...bt phir b kosis krni h..or krenge isi hope ke sath ki hm honge kamyab ek din...cirruption ko khtam ni bt km krne m..

    जवाब देंहटाएं

Popular Posts