नवीनतम

Post Top Ad

महाभारत धारवाहिक से जुड़े 10 रहस्य्मयी प्रश्नो के जवाब

costing-casting-salary-budget-of-mahabharat-serial.html

90 के दसक के सुप्रसिद्ध धारावाहिक महाभारत को भला कौन भूल सकता है। उस समय इतने धारावाहिक नहीं थे और न ही कोई इतना प्रसिद्द थे। रामायण के बाद महाभारत ही ऐसा धारावाहिक था जो आज भी जनमानस के दिलों में बस गया। इन धारावाहिकों की छाप ऐसी पड़ी की कोई आज तक भी इनको टक्कर नहीं दे पाया। जब ये धारावाहिक प्रसारित होते थे तो समय ठहर जाता था। सब काम धंधा छोड़ इन्ही धारावाहिकों में खो जाते थे। आज भी वो लगाव बरकरार है। इन सबके बाद मन में प्रश्न रहता है की किसको कैसे किरदार मिले होंगे ? कितनी आय रही होगी?  कितना खर्च आया होगा? और भी बहुत सी बातें। तो चलिए जानते हैं उन सभी प्रश्नो के उत्तर -

1. महाभारत का पहला एपिसोड 2 अक्टूबर 1988 को दूरदर्शन पर प्रसारित हुआ था। जो की जून 1990 तक प्रसारित हुआ। महाभारत के कुल 94 एपिसोड तैयार हुए थे जिसके लिए 2 साल तक लगातार शूटिंग चली थी।

2. नितीश भारद्वाज को सबसे पहले विदुर के किरदार के लिए चुना गया था। लेकिन नितीश जी उस समय 23 वर्ष के थे। विदुर जी की वृद्धावस्था उनके ऊपर जमती नहीं। इसलिए वो किरदार वीरेंदर राजदान को मिला, उसके बाद उन्हें नकुल या सहदेव का किरदार करने को कहा गया। लेकिन वो अभिमन्यु का किरदार करना चाहते थे।आखिरकार उन्हें सबसे अलग और सबसे मुख्य किरदार भगवान् श्री कृष्ण का करने को मिला। उनके जबरदस्त डायलॉग डिलीवरी और अभिनय के चलते भगवान् श्री कृष्ण का नाम उनके नाम के साथ हमेशा हमेशा के लिए जुड़ गया।  

3. द्रौपदी के किरदार के लिए 6 अभिनेत्रिओं को चुना गया था। जिसमे जूही चावला भी शामिल थी।  लेकिन उसी दौरान उन्हें कोई फिल्म मिल गयी जिसके चलते वो इस धारावाहिक से हट गयीं। आखरी में दो अभिनेत्रियों का चुनाव हुआ राम्या कृष्णन और रूपा गांगुली। रूपा गांगुली की हिंदी अच्छी होने के चलते उन्हें द्रौपदी का किरदार मिला।

4. आपको जानकर आश्चर्य होगा चंकी पांडेय और गोविंदा को अभिमन्यु के किरदार के लिए चुना गया था।  लेकिन उसी दौरान उन्हें भी फिल्म मिल गयी जिसके चलते वो महाभारत धारावाहिक से हट गए। और इस किरदार को निभाया अभिनेता मयूर वर्मा ने।

5. महाभारत धारावाहिक में काम करने वाले राज बब्बर, मुकेश खन्ना और देवाश्री राय अकेले ऐसे अभिनेता थे जो फ़िल्मी जगत के सुप्रसिद्ध सितारे थे। बाकी अभिनेता में से ज्यादातर नए थे या फिर ज्यादा फिल्मे नहीं की थी।
6. मुकेश खन्ना जी को भीष्म से पहले दुर्योधन का किरदार ऑफर हुआ था। लेकिन वो अर्जुन या कर्ण का किरदार निभाना चाहते थे। लेकिन वो दोनों किरदार भी किसी को मिल गए। आखिर में उन्होंने भीष्म पितामह का किरदार किया और सदा सदा के लिए अमर हो गए।

7. महाभारत धारावाहिक को तमिल भाषा में राजश्री.कॉम की वेबसाइट में अपलोड किया गया है तो वही बंगाली भाषा में हार्ट वीडियो ने रिलीज़ किया है।

8. महाभारत की 80 प्रतिशत शूटिंग मुंबई में हुई है। लेकिन युद्ध के दृश्य दीखाने के लिए बड़ा मैदान चाहिए था।   उस समय टेक्नोलॉजी बहुत कम थी। इसलिए वास्तविक का बड़ा मैदान खोजा गया जो जयपुर से 40 किलोमीटर दूर एक गाँव में था।

9. रूप गांगुली ने द्रौपदी चीरहरण के दृश्य के दौरान 6 मीटर की बेहद लम्बी साड़ी पहनी थी। इसके अलावा इस दृश्य के लिए 250 मीटर साड़ी का इस्तेमाल किया गया था।

10. पूरी महाभारत को बनाने को बनने में 9 करोड़ रूपये का खर्चा आया था। प्रति एपिसोड के खर्च की बात करें तो करीब 9 से 10 लाख रूपये का खर्च आता था। महाभारत धारवाहिक से कुल कमाई 65 करोड़ रूपये हुई थी। ये रामायण धारावाहिक से भी ज्यादा था। सैलरी की बात करें तो सैलरी सबको बराबर दी जाती थी।  प्रति कलाकार प्रति एपिसोड करीब 9 से 10 हजार रूपये दिए जाते थे।


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Popular Posts